img

भारत टी20 विश्व कप सेमीफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ जीत की तलाश में ..

Sarita Dey
3 weeks ago

2024 टी20 वर्ल्ड कप में अब तक जीत चुके, भारत सेमीफाइनल में अपने चिर प्रतिद्वंद्वी इंग्लैंड से भिड़ने के लिए तैयार है, इसलिए एक और हाई-वोल्टेज मुकाबले के लिए मंच तैयार है। छह मैचों में छह जीत के साथ, रोहित शर्मा की टीम शानदार फॉर्म में है, लेकिन गुयाना के प्रोविडेंस स्टेडियम में उनका सबसे बड़ा इम्तिहान होने वाला है। क्या वे विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ पिछले दिल टूटने की यादों को ताजा कर पाएंगे?

 Read Also: The 7 Big Changes! IPL Stars Get Chance On Zimbabwe Tour, Dhoni’s Return

चलिए समय को पीछे घुमाते हैं और कुछ Memorable मुकाबलों को फिर से देखते हैं

यह पहली बार नहीं है जब ये दो दिग्गज क्रिकेटर्स टी20 विश्व कप के नॉकआउट मैच में आमने-सामने होंगे। आइए समय को पीछे घुमाते हैं और कुछ अविस्मरणीय मुकाबलों को फिर से देखते हैं, जिन्होंने इस ऐतिहासिक प्रतिद्वंद्विता को आकार दिया है।

2007: युवराज सिंह की धमाकेदार पारी ने भारत को दिलाई जीत

क्या आपको 2007 टी20 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ युवराज सिंह के छह छक्के याद हैं? खैर, उस ऐतिहासिक फाइनल से पहले भारत का सामना इंग्लैंड से हुआ था और यह भी एक यादगार मुकाबला था। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने युवराज सिंह की 30 गेंदों में 70 रन की पारी और एमएस धोनी की 18 गेंदों में 30 रन की महत्वपूर्ण पारी की बदौलत 188 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। मैथ्यू हेडन (62) और एंड्रयू साइमंड्स (43) के शानदार प्रदर्शन के बावजूद इंग्लैंड 15 रन से हार गया, जिससे भारत की विश्व कप जीत का मार्ग प्रशस्त हुआ।

2014: विराट कोहली चेस मास्टर के रूप में उभरे

सात साल बाद, 2014 के संस्करण में, भारत और इंग्लैंड ग्रुप स्टेज में फिर से भिड़े। इस बार, युवा विराट कोहली ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा। दक्षिण अफ्रीका द्वारा निर्धारित 173 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए, कोहली ने अपने अब तक के प्रसिद्ध चेस मास्टर कौशल का प्रदर्शन किया और केवल 44 गेंदों पर नाबाद 72 रन बनाए। पांच चौकों और दो छक्कों की मदद से उनकी पारी ने भारत को पांच गेंद शेष रहते रोमांचक जीत दिलाने में मदद की। हालांकि, श्रीलंका के खिलाफ फाइनल में भारत का सफर खत्म हो गया।

2016 और 2022 के दाग: क्या भारत इतिहास फिर से लिख सकता है?

2016 और 2022 के मुकाबले भारतीय प्रशंसकों के लिए दिल तोड़ने वाले थे। 2016 में, कोहली के शानदार 89 रनों के बावजूद, भारत के गेंदबाज लेंडल सिमंस और आंद्रे रसेल की विस्फोटक बल्लेबाजी को रोक नहीं पाए, जिन्होंने दो गेंद शेष रहते 193 रनों का लक्ष्य हासिल कर लिया। 2022 में भी यही कहानी दोहराई गई, जहां भारतीय शीर्ष क्रम के खराब बल्लेबाजी प्रदर्शन के कारण 168 रन का औसत से कम स्कोर बना। इसके बाद इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज जोस बटलर और एलेक्स हेल्स ने दबदबे का बेहतरीन नमूना पेश किया और 170 रनों की मैच जिताऊ साझेदारी कर हार के मुंह से जीत छीन ली।

इन पिछली हारों के साथ, भारत 27 जून को इतिहास फिर से लिखने के लिए दृढ़ संकल्पित होगा। क्या रोहित शर्मा की टीम अपने प्रतिद्वंद्वी को हराकर फाइनल में जगह बना पाएगी?

आपको क्या लगता है कि भारत और इंग्लैंड के बीच होने वाले बहुप्रतीक्षित मुकाबले में कौन जीतेगा? नीचे कमेंट में अपनी भविष्यवाणियाँ और विश्लेषण साझा करें!

Dream11 Free and Paid Team – Join Telegram Channel Click

Recent News